शिवना प्रकाशन के होली परिशिष्ट का विमोचन

साहित्यिक संस्था शिवना प्रकाशन द्वारा होली के अवसर पर प्रकाशित होली परिशिष्ट होली का हंगामा का विमाचन जिला जनसम्पर्क अधिकारी श्री एल आर सिसौदिया ने किया । कार्यक्रम की अध्यक्षता गल्ला व्यापारी संघ के अध्यक्ष श्री कैलाश अग्रवाल ने की विशिष्ट अतिथि के रूप में वरिष्ठ पत्रकार श्री रामनारायण ताम्रकार तथा बैंक कर्मी श्री उमेश शर्मा उपस्थित थे ।
शिवना प्रकाशन द्वारा होली के पर्व को लेकर एक परिशिष्ट का प्रकाशन साहित्यकार श्री रमेश हठीला के संपादन में किया गया है । इस परिशिष्ट में होली को लेकर उपाधियां तथा अन्य सामग्री का प्रकाशन किया गया है । होली का हंगामा नाम से प्रकाशित इस परिशिष्ट के सहायक संपादक श्री पंकज सुबीर तथा श्री अनिल राय हैं । इस परिशिष्ट का विमोचन पी सी लैब पर आयोजित एक समारोह में किया गया ।

DSC_1876

सर्वप्रथम अतिथियों ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा गुलाल अर्पित की । तत्पश्चात अतिथियों का स्वागत पुष्प माला से डॉ आजम, सनी गोस्वामी, हरिओम शर्मा दाऊ ने किया ।

DSC_1878

सोनू ठाकुर ने सभी अतिथियों को अबीर गुलाल का तिलक कर सभी उपस्थितों का स्वागत किया ।

DSC_1891

परिशिष्ट का विमोचन संपादक रमेश हठीला तथा सह संपादक अनिल राय ने अतिथियों के कर कमलों से संपन्न करवाया ।

DSC_1892

परिशिष्ट के बारे में बोलते हुए पत्रकार शैलेश तिवारी ने होली की परंपरा के निर्वाहन के लिये निकाले गये इस अंक पर विस्तार से प्रकाश डाला । मुख्य अतिथि श्री एल आर सिसौदिया ने कहा कि शालीन हास्य के माध्यम से होली के अवसर पर शहर के गणमान्य नागरिकों को उपाधियां देने की एक शिष्ट परंपरा रही है जिसका शिवना ने सीहोर में निर्वाह किया है ।  श्री रामनारायण ताम्रकार ने कहा कि शिवना प्रकाशन ने होली का हंगामा प्रकाशित कर उस कमी को पूरा करने की कोशिश है जो पिछले कुछ सालों से बन गई है । श्री उमेश शर्मा ने होली का हंगामा की मुक्त कंठ से सराहना करते हुए अंक  को सामयिक बताया । अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में श्री कैलाश अग्रवाल ने कहा कि साहित्यकारों ने होली को अपनी कलम के माध्यम से और रंगीन कर दिया है । उन्होंने होली के हंगामा को शिवना प्रकाशन द्वारा शहर के गणमान्य नागरिकों के साथ खेली गई शालीन होली निरूपित किया । अंत में शिवना के श्री हरीओम शर्मा दाऊ ने आभार व्यक्त किया । कार्यक्रम का संचालन पंकज सुबीर ने किया  । कार्यक्रम में  राजकुमार गुप्ता, अनिल पालीवाल,  प्रदीप समाधिया,  हरीओम शर्मा, राजेंद्र शर्मा,  चंद्रकांत दासवानी,  जयंत शाह,  हितेन्द्र गोस्वामी, सुनील भालेराव,  सूर्यमणी शुक्ला,  संजय धीमान, सुनील शर्मा,  नरेश तिवारी,  बिल्लू समाधिया,  सोनू ठाकुर, सुरेंद्र राठौर,  मनोज मामा,  सनी गोस्वामी, सुधीर मालवीय आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे ।

8 comments:

रविकांत पाण्डेय said...

"होली का हंगामा" की scanned copy उपलब्ध कराई जाये तो हमारा भी कुछ भला हो। हम अभी से कल्पना लोक में पहुंच गये हैं।

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

होली का हंगामा प्रकाशन के लिए बधाई! इस की प्रति कहाँ से और कैसे प्राप्त की जा सकती है?

"अर्श" said...

होली हंगामा की एक प्रति तो चाहिए ही ...


अर्श

venus kesari said...

हमसे पहले आयी तीनो कमेन्ट में हमारे मन की बात कही गई है

स्कैन कापी दीजिए तो हम भी पढ़ लें

सुलभ § सतरंगी said...

होली का हंगामा प्रकाशन!
जरुरी है

Ankit Joshi said...

प्रणाम गुरु जी,
अब एक प्रति तो भिजवा ही दीजिये...............
नोट:- पहली पंक्ति में विमोचन गलती से विमाचन हो गया है.

गौतम राजरिशी said...

तस्वीरें देखकर इतना तो तय हो गया गुरूदेव कि सीहोर में सबसे लंबे आप ही हो....

शरद कोकास said...

पंकज जी को सम्मान के लिये बधाई ।