शिवना प्रकाशन के अखिल भारतीय मुशायरे में पद्मश्री डा. बशीर बद्र, पद्मश्री बेकल उत्साही, डा. राहत इन्दौरी करेंगें चार नई पुस्‍तकों का विमोचन ।


prakashan for corel copy123prakashan for corel copy

सीहोर के सुप्रसिध्द कवि स्व. मोहन राय की स्मृति में जिले की अग्रणी साहित्यिक प्रकाशन संस्था शिवना प्रकाशन तथा मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी के संयुक्त तत्वावधान में एक अखिल भारतीय मुशायरे का आयोजन आगामी आठ मई को किया जा रहा है । इस आयोजन में देश भर के दिग्गज शायरों के आने की स्वीकृति मिल चुकी है ।

2653393861_ea1dd79ec7 bekal utsahi Rahat Indori Photo 2 nusrat mehadi ji[2]
कार्यक्रम संयोजक राजकुमार गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि सुकवि मोहन राय की स्मृति में 8 मई शनिवार को होने वाले इस भव्य अखिल भारतीय मुशायरे में मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी के अध्यक्ष तथा सुविख्यात शायर पद्मश्री डा. बशीर बद्र, पद्मश्री श्री बेकल उत्साही (बलरामपुर), डॉ. राहत इन्दौरी (इन्दौर), मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी की सचिव श्रीमती नुसरत मेहदी ( भोपाल), शकील जमाली (नई दिल्ली), खुरशीद हैदर (मुजंफ्फर नगर), अख्तर ग्वालियरी (उज्‍जैन), शाकिर रजा (इन्दौर), सिकन्दर हयात गड़बड़ (रुड़की), अतहर (लटेरी), सुलेमान मजाज (कुरवाई), जिया राना (उज्‍जैन), राना जेबा (ग्वालियर), फारुक अन्जुम (भोपाल), काजी मलिक नवेद (भोपाल),  आदि की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है ।

sudha_dheengra Copy of 00430002 monica seema ji2

 dhoop chand pe4 geet-print thumb virah ka rang thumb

श्री गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि शिवना प्रकाशन द्वारा इस कार्यक्रम में नई प्रकाशित पुस्तकों का विमोचन भी किया जायेगा । इन पुस्तकों में हिंदी की  शीर्ष कहानीकार डॉ. सुधा ओम ढींगरा की पुस्तक धूप से रूठी चाँदनी, मोनिका हठीला की पुस्तक एक खुश्बू टहलती रही, गुड़गांव की कवयित्री सीमा गुप्ता की पुस्तक विरह के रंग तथा पोखरन राजस्थान के ग़ज़लकार मेजर संजय चतुर्वेदी की पुस्तक चाँद पर चाँदनी नहीं होती का विमोचन किया जायेगा । इस अवसर पर शिवना प्रकाशन द्वारा स्व. मोहन राय की स्मृति में दिया जाने वाला सुकवि मोहन राय स्मृति पुरस्कार भी जिले के चयनित साहित्यकार को प्रदान किया जायेगा । पुरस्कार के लिये डॉ. पुष्पा दुबे की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति बनाई गई है जिसमें वरिष्ठ साहित्यकार सुकवि रमेश हठीला तथा कहानीकार पंकज सुबीर को शामिल किया गया है । समिति शीघ्र ही अपनी बैठक कर पुरस्कार के नामों पर विचार करेगी । श्री गुप्ता ने बताया कि सुकवि मोहन राय सीहोर जिले के मूर्ध्दन्य कवि थे उनकी दो पुस्तकें गुलमोहर के तले तथा झील का पानी शिवना प्रकाशन द्वारा प्रकाशित की गईं थी ।  शिवना द्वारा उनकी स्मृति में हर वर्ष आयोजन किया जाता है । शिवना प्रकाशन तथा मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी के संयुक्त आयोजन को लेकर व्यापक स्तर पर तैयारियाँ प्रारंभ कर दी गई हैं तथा शीघ्र ही इस अखिल भारतीय मुशायरे को लेकर आयोजन समिति की घोषणा कर दी जायेगी ।

1 comments:

वीनस केशरी said...

हुर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रेर्रे